फ्लाईओवर तोड़ दुकानों पर गिरा टिपर, एक की मौत

0
9


अमर उजाला नेटवर्क, शिमला
Updated Wed, 13 Jan 2021 12:31 AM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

* सिर्फ ₹ 299 सीमित अवधि की पेशकश के लिए वार्षिक सदस्यता। जल्दी करो!

ख़बर सुनकर

चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे पर स्थित पतलीकॉल्फ़ल में बने फ्लाईओवर पर मंगलवार रात को एक तेजर टिप टिपर रेलिंग तोड़कर पंपों को गिरा दिया गया। हादसे के समय टिपर में चार लोग सवार थे, जिनमें से एक की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा तीन सवार घायल हो गए हैं। घायलों को उपचार के लिए कुल्लू अस्पताल रेफर किया गया है। यहां उनका उपचार चल रहा है।

पुलिस के मुताबिक मंगलवार देर रात मनाली की ओर से आ रही तेजर और टिपर अनियंत्रत के पतकुलील बाईपास रोड़ पर बने फलाईओवर की रेलिंग ब्रेककर दूसरी ओर दुकानों पर गिराई जा रही है। हादसा इतना भयंकर था कि टिपर के गिरने की आवाज दूर तक सुनाई दी। इस आवाज को सुनकर आसपास के घरों के बच्चों और महिलाओं की चीख तक निकल गई। हादसे में नेपाली मूल के कर्ण की मौत हो गई, जबकि तीन घायल हो गए।

एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि हादसे में एक सवार की मौत हो गई है। तीन घायलों को अस्पताल पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि इस हादसे के कारणों को जानने के लिए मेकेनिकल रिपोर्ट का इंतजार किया गया है। पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 279, 337 और 304 ए के तहत केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।

चंडीगढ़-मनाली नेशनल हाईवे पर स्थित पतलीकॉल्फ़ल में बने फ्लाईओवर पर मंगलवार रात को एक तेजर टिप टिपर रेलिंग तोड़कर पंपों को गिरा दिया गया। हादसे के समय टिपर में चार लोग सवार थे, जिनमें से एक की मौके पर ही मौत हो गई। इसके अलावा तीन सवार घायल हो गए हैं। घायलों को उपचार के लिए कुल्लू अस्पताल रेफर किया गया है। यहां उनका उपचार चल रहा है।

पुलिस के मुताबिक मंगलवार देर रात मनाली की ओर से आ रही तेजर और टिपर अनियंत्रत के पतकुलील बाईपास रोड़ पर बने फलाईओवर की रेलिंग ब्रेककर दूसरी ओर दुकानों पर गिराई जा रही है। हादसा इतना भयंकर था कि टिपर के गिरने की आवाज दूर तक सुनाई दी। इस आवाज को सुनकर आसपास के घरों के बच्चों और महिलाओं की चीख तक निकल गई। हादसे में नेपाली मूल के कर्ण की मौत हो गई, जबकि तीन घायल हो गए।

एसपी कुल्लू गौरव सिंह ने बताया कि हादसे में एक सवार की मौत हो गई है। तीन घायलों को अस्पताल पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि इस हादसे के कारणों को जानने के लिए मेकेनिकल रिपोर्ट का इंतजार किया गया है। पुलिस ने मामले में आईपीसी की धारा 279, 337 और 304 ए के तहत केस दर्ज कर छानबीन शुरू कर दी है।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here