मकर संक्रांति पर कोरोना के खात्मे का संदेश हुआ पतंगों की डिमांड, ग्राम की बनी मिठाइयों ने ग्रहाकों को लुभाया।

0
8


वाराणसी: काशी में हर दिन एक त्योहार की तरह है। मकर संक्रांति के पर्व को लेकर भी वाराणसी के मैदान में खासी रौनक देखने को मिल रही है। इस बार त्योहार के अवसर पर एयरलाइंस में काफी कुछ खास है। लोगों में पंटगिंग को लेकर काफी उत्साह दिखाई दे रहा है। विशेष बात ये है कि पतंगें भी कोरोना के खात्मे का संदेश दे रही हैं।

पतंग बाजार में रौनक
औरंगा पतंग बाजार में रंग बिरंगी, हर वैरायटी की पतंगें बिक रही हैं। लेकिन ‘गो कोरोना गो’ के साथ कोरोना खात्मे का संदेश पतंगों की खास डिमांड है। कोरोना के खात्मे का संदेश धड़कता पतंगों के साथा-साथ मोदी पतंग लोगों की पहली पसंद बनी हुई है। ग्राहकों ने ग्राहकों की मांग को देखते हुए पतंगों की बड़ी खेप बाजार में उतारी है। ये रंग बिरंगी पतंगें लोगों को खूब पसंद भी आ रहा है। पूरा पतंग बाजार क्षेत्र से खचाखच भरा हुआ नजर आया।

गुड़ और तिल से बनी मिठाइयों की डिमांड
बात अगर संक्रांति पर्व और लोहड़ी की हो तो पारंपरिक मिठास को कैसे नजरअंदाज किया जा सकता है। संक्रांति के पर्व पर ग्राम से बनी मिठाइयां परंपरा का प्रतीक हैं और इनकी खास डिमांड है। तिल और गुड़ की बनी मिठाइयां नए अंदाज में मछली को लुभा रही हैं। कोई त्यौहार के महत्व को देखकर तो कोई उपहार स्वरूप देने के लिए इसकी खरीदारी कर रहा है।

खास होता है त्यौहारों की रौनक
बता दें कि, वाराणसी में त्यौहारों की रौनक खास होती है। काशी में हर त्यौहार को मनाने का अलग अंजाज होता है। कोरोना काल में इस बार संक्रांति के पर्व को भी अलग अंदाज में मनाने की तैयारी है।

ये भी पढ़ें:

मकर संक्रांति के बाद शुरू हो रहा है कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम, अपनी बारी का करें इंतजार: योगी आदित्यनाथ

हरिद्वार कुंभ मेला 2021: जानें- क्यों मकर संक्रांति का पर्व साबित हो सकता है बड़ी चुनौती





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here