सावधान! कोरोना वैक्सीन पंजीकरण के नाम पर आपका बैंक खाता हो सकता है खाली, साइबर ठग बना रहे हैं लक्ष्य

0
9


कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण जल्द शुरू होने वाला है। वैक्सीन की पहली खेप सेंटर्स तक पहुंच गई है ऐसे में अब 16 जनवरी से टीकाकरण की प्रक्रिया शुरू होगी। इस बीच साइबर अपराधी भी सक्रिय हो गए हैं। कोरोना काल से ही साइबर अपराधी लगातार तरह-तरह से लोगों को अपनी ठगी का शिकार बना रहे हैं। पिछले कुछ दिनों में साइबर क्राइम के मामलों में काफी वृद्धि हुई है। अब साइबर क्राइम से जुड़े ठग आपके मोबाइल पर कोरोना वैक्सीन (कोरोना वैक्सीन) के पंजीकरण के लिए सूची भेजकर ठगी कर रहे हैं। अगर आपके मोबाइल पर ऐसा कोई नंबर नहीं आया है तो आपको सावधान होने की जरूरत है। इस सूची पर एक क्लिक करें ही आपका खाते से पूरा पैसा गायब हो सकता है।

आपको बता दें पिछले कुछ दिनों में ऐसे मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। अब पुलिस मामलों की जांच कर रही है। वहीं साइबर सेल ने भी ऐसे लोगों से सतर्क रहने के लिए एडवाइजरी जारी की है।

कोरोना वैक्सीन पंजीकरण के नाम पर ठगी
दरअसल साइबर क्राइम से जुड़े लोग नोएडा में रहने वाले कई लोगों को अपना शिकार बना चुके हैं। इन लोगों के मोबाइल पर मैसेज में एक नंबर भेजकर उस पर क्लिक करने के लिए कहा गया था। इसमें कहा गया है कि जब आप इस नंबर पर क्लिक करेंगे तो केवल आपका कोरोना वैक्सीन पंजीकरण पूरा होगा। लेकिन जैसे ही उस नंबर पर क्लिक किया गया, लोगों के बैंक खाते और ई-वॉलेट पैसे निकल गए। इसके अलावा कई लोग सरकार की ओर से सूची जारी कर पंजीकरण कराने का बात कर रहे हैं। साइबर ठग मुफ्त में कोरोना वैक्सीन मुहैया कराने का लोगों को झांसा देकर फांटा रहे हैं।

ओटीपी के जरिए भी कर रहे हैं ठगी
इतना ही नहीं साइबर अपराधी आपको जल्दी और बिना किसी परेशानी के कोरोना वैक्सीन लगवाने का लालच देकर मोबाइल पर मैसेज के साथ एक ओटीपी प्रेषक की बात कहते हैं। इसके बाद पंजीकरण के लिए वे उन ओटीपी नंबर मांगते हैं। आप जैसे ही ओटीपी नंबर साइबर अपराधियों को बताते हैं कि आपके बैंक खाते से पैसे निकाल लिए जाते हैं।

ऐसे अपराधियों से कैसे
1 सरकार की ओर से ऐसी कोई शुरुआत नहीं की गई कि आपके मोबाइल पर कॉल या एसएमएस भेजकर कोविड वैक्सीन का पंजीकरण किया जाएगा।
2 आपका फोन ऐसे किसी भी तरह के मैसेज और उसमें दिए गए नंबर पर क्लिक करें।
3 व्हाट्सऐप पर भी ऐसा कोई मैसेज सर्कुलेट हो तो उस पर अपनी किसी भी तरह की जानकारी न दें।
4 कोई अगर आपको कॉल करके फोन पर भेजा गया ओटीपी की जानकारी मांगता है तो किसी को इसकी जानकारी न दें।
5 कोई अगर आपको जल्दी कोरोना वैक्सीन मुहैया कराने की बात कहे तो उनकी बातों पर यकीन न करें।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here